You are here

मुख्‍य पृष्‍ठ वित्‍त लेखांकन संगठन

लेखांकन संगठन

सचिव, मुख्‍य लेखांकन प्राधिकारी के रूप में वित्‍तीय परामर्शदाता और लेखा नियंत्रक के जरिए लेखांकन कार्यों का निर्वहन करते हैं। लेखा-नियंत्रक, सीजीए के प्रतिनिधि की क्षमता में, लेखांकन संगठन के विभागाध्‍यक्ष है और एकीकृत वित्‍त योजना के अंतर्गत कार्य करते हैं और उनकी सहायता दो लेखा नियं‍त्रक करते हैं, मुख्‍यालय और केंद्रीय जल आयोग आर.के.पुरम में एक प्रत्‍येक और फरक्‍का बैराज में एक सहायक लेखा नियंत्रक, फरक्‍का और पूरे देश में स्थित मंत्रालय के वेतन और विभिन्‍न लेखा कार्यालयों में 12 वेतन और लेखा अधिकारी उनकी सहायता करते हैं।

मंत्रालय के लेखांकन संगठन में प्रधान लेखा कार्यालय, दिल्‍ली के तीन स्‍थानीय वेतन और लेखा कार्यालय अर्थात वेतन और लेखा कार्यालय, केंद्रीय जल आयोग,वेतन और लेखा कार्यालय, केंद्रीय मृदा ओर सामग्रीअनुसंधानशालातथा वेतन और लेखा कार्यालय-सचिवालय (मुख्‍य मंत्रालय) और तीन बाह्य वेतन और लेखा कार्यालय अर्थातवेतन और लेखा कार्यालय, केंद्रीय भूमि जल बोर्ड, फरीदाबाद(हरियाणा), वेतन और लेखा कार्यालय-केंद्रीय जल विद्युत अनुसंधानशाला,पूणे (महाराष्‍ट्र) तथा वेतन और लेखा कार्यालय, फरक्‍का बैराज परियोजना, मुर्शिदाबाद (पश्चिम बंगाल)
 
लेखा नियंत्रक, जल संसाधन मंत्रालय के कर्तव्‍य और उत्‍तरदायित्‍व

  • जल संसाधन मंत्रालय को वित्‍त, बजट, लेखांकन, व्‍यय,प्रबंधन, स्‍थापना मामलों और कर्मचारियों के व्‍यैक्तिक दावों सं संबंधित मामलों में सलाह देना।
  • वेतन और भत्‍तों, कार्यालय आ‍कस्मिकताओं, स्‍वीकार्य ऋणों के विविध भुगतान, सरकारी कर्मचारियों को अग्रिम आदि सहित देश की विभिन्‍न ईकाइयों में विभिन्‍न विभागों के वेतन और लेखा अधिकारियों तथा आहरण और संवितरण अधिकारियों के जरिए भुगतान और लेखांकन प्रणाली का शासन करना।
  • मंत्रालय की मासिक और वार्षिक प्राप्तियों और भुगतान के संकलन और समेकन के जरिए लेखा महानियंत्रक को जन व्‍यय प्रबंधन
  • व्‍यय प्रगति कीमॉनीटरिंगकरना
  • केंद्रीय लेनदेन/लेखों का विनियोग, संघ वित्‍त लेखों और बजट प्राप्तियों की विवरणी तैयार करना और वित्‍त मंत्रालय को प्रस्‍तुत करना।
  • लेखे, एक झलक में, तैयार करना
  • लेखांकन संगठन हेतु विभागाध्‍यक्ष की शक्तियों का प्रत्‍यायोजन करना और आजीविका परामर्श, प्रशिक्षण, स्‍थानांतरण पदो‍न्‍नति, छुट्टी, सतर्कता ओर अनुशासनिक मामलों आदि के संदर्भ में कॉडर का प्रबंधन करना।
  • आंतरिक लेखापरीक्षा दलों को सामान्‍य दिशा-निर्देश देना और वित्‍त मंत्रालय और बाह्य लेखापरीक्षकों अर्थात भारत के नियंत्रक व महालेखापरीक्षक से मेल-जोल रखना।
  • बैंकिग संरचना के लिए सीजीए कार्यालय के साथ मेल-जोल रखना और बैंको के जरिए मंत्रालय की ओर से सभी प्राप्तियोंऔर किए गए भुगतान का सत्‍यापन और मिलान करना
  • अनुदान सहायता, ऋणों और बिलों का तुरंत भुगतान सुनिश्चित करना और पुर्नभुगतान व उपयोगिता प्रमाणपत्र कीमॉनीटरिंगकरना।
  • पेंशन और अन्‍य सेवा-निवृत्ति हितलाभों, सामान्‍य भविष्‍य निधि और अन्‍य व्‍यैक्तिक दावों के मामलों का त्‍वरित निपटान सुनिश्चित करना।
  • लेखांकन सूचना को उपयुक्‍त प्रबंधन निर्णय हेतु उपयोगी एमाआईएस में परिवर्तित करना।
  • जल संसाधन मंत्रालय के लेखांकन संगठन के संबंध में सूचना का अधिकार मामलों हेतु अपीलीय प्राधिकारी के रूप में कार्य करना।
  • सभी सी एंड एजी/पीएसी पैरा से संबंधित कृत कार्रवाई टिप्‍पणी कीमॉनीटरिंगकरना।
लेखांकन संगठन